Posts

Showing posts from September, 2012

दोस्ती के नाम -2

Image
दोस्ती के नाम -2

हर किसी की ज़िंदगी में कुछ पल ऐसे होते हैं  जो लगभग हम सभी के लिये खास होते हैं .जिनमें से स्कूल डेस की यादें अक्सर हम सभी को अपनी ज़िंदगी के कुछ हसीन पलों की याद दिला देती हैं. मैं कहूँगा कि स्कूल डेस के दौरान मेरे अनुभव दिल में कचोटन पैदा करने वाले थे. पर जैसे की हम सभी जानते हैं कि एक सिक्के के दो पहलू होते हैं , वैसे ही यदि मेरे स्कूल डेस में अधिकतर कड़वी यादें हैं तो कुछ ऐसी भी यादों की बहार है जो कड़वी यादों पर भारी हैं . और इन मीठी  यादों का कारण वे चंद लोग हैं जो मेरे दोस्त हैं , जो उस वक़्त भी मेरे साथ थे और आज भी मेरे साथ हैं... शायद उन्हीं के कारण मुझे अपने स्कूल डेस से पूर्णतया घृ्णा नहीं हुई क्योंकि जहाँ कभी कड़वी यादों की काली रात मन-मस्तिष्क में कड़वाहट भरती है तो वहीं दोस्तों के साथ बिताये कुछ खास पल मन -मस्तिष्क में समुज्जवलता प्रदान करते हैं.

सीधे शब्दों में कहूँ तो मेरे स्कूल डेस में चंद ही सहपाठी ऐसे थे जो मेरे दोस्त बन सके. अर्थात मेरे क्लासमेट्स से मेरे फ्रेंड्स बनने तक के सफर को चंद शख्सियतों ने ही पार किया है जो आज भी मेरे हृ्दय के करीब हैं और हमेश…

दोस्ती के नाम :

Image
दोस्ती,
कहो तो दो लफ्ज़, मानो तो बंदगी
सोचो तो गहरा सागर, डूबो तो ज़िंदगी
करो तो आसान, निभाओ तो मुश्किल
बिखरे तो ज़माना , सिमटे तो सिर्फ तुम



**************************************************
सच में, दोस्ती एक बेहद रोचक , अटूट व अनमोल रिश्ता होता है ..... दोस्ती तब और भी अनमोल बन जाती है जब आपके दोस्त बचपन से आपके साथ हों ......साथ- साथ पढ़ना- बढ़ना, खेलना- कूदना , हँसी मज़ाक , एक दूसरे को समझना , मदद करना, एक दूसरे की भावनाओं का आदर करना व सुख - दुख में साथ रहना .....और जीवन पर्यंत साथ निभाना... यही कुछ वाक्य दोस्ती के रिश्ते को परिभाषित करते हैं.
आज अपने चिट्ठे की इस पोस्ट को अपने प्रिय मित्रों में से एक 'अनीश द्विवेदी' के नाम कर रहा हूँ.

'अनीश द्विवेदी' - सरल, मासूमियत से भरपूर व गंभीर व्यक्तित्व का धनी , श्याम वर्ण , आँखों में समुद्र सी गहराई व अनेकों सपने .....यही है अनीश की पह्चान .
अनीश से मेरी मुलाकात मेरे विद्यालय में 11 वीं कक्षा में हुई ... हालांकि हम इससे पूर्व भी एक ही कक्षा में थे परंतु उसका सेक्शन अलग था...  दसवीं के बाद हम 11वीं कक्षा, वाणिज्य संकाय के साथ अपनी …